दुनिया मेरी जेब में / Duniya Meri Jeb Mein by James Hadley Chase Download Free PDF

चार शख्स एक मेज के इर्द-गिर्द बैठे थे। मेज पर ताश के पत्ते, जुए में इस्तेमाल होने वाले पोकर विप्स, सिगरेट के टोटों से भरी ऐशट्रे, चार गिलारा और शराब की एक बोतल मौजूद थी।मेज पर सीधी पड़ती हरे शेड की रोशनी के अलावा वहाँ शेष पूरे कमरे में अंधेरा था, वातावरण में सिगरेट का कसैला धुंआ बसा हुआ था।वहाँ

» Read more

दौलत की दीवानी / Daulat ki deewani by James Hadley Chase Download Free PDF

इससे पूर्व कि मैं आपको अपनी तथा ईव के संबंधों की कहानी सुनाना आरंभ करूं-मैं ही संक्षेप में आपको वे घटनाएं सुनाना चाहता हूं, जो मेरे और ईव की पहली मुलाकात के दौरान घटित हुई थीं। अपनी शिपिंग क्लर्क की मामूली नौकरी को छोड देने के कारण जो असाधारण परिवर्तन मेरे जीवन में आए थे, वे अगर न आए होते

» Read more

दौलत आयी मौत लायी / Daulat aayi maut lai by James Hadley Chase Download Free PDF

नोटों से भरा भारी थैला उठाये सैमी घिसट-घिसटकर चल रहा था। वर्षा की हल्की-हल्की बूंदों से उसका काला चेहरा तर हो रहा था। सैमी ऊंचे कद का, लगभग तीस वर्ष की उम्र का एक हृष्टपुष्ट नीयो था। उसके चौड़े कंधे, भारी-भारी मजबूत हाथ-पैरों को देखकर, कोई कल्पना भी नहीं कर सकता था कि ऊपर से इतना हृष्ट-पुष्ट, मजबूत किस्म का

» Read more

खाली हाथ / Khali Haath by James Hadley Chase Download Free PDF

‘हेरी ग्लेब’ बांड स्ट्रीट अण्डरग्राउण्ड स्टेशन से बाहर निकला तो बारिश हो रही थी।जमीन पर कई इंच पानी था। कुछ ठिठककर उसने काले आकाश का निरीक्षण किया, जहां बादल ही बादल थे।“उफ! मेरी किस्मत!” वह सोचने लगा—”टैक्सी की भी कोई उम्मीद नहीं है, पैदल ही चलना होगा। देर हो गयी तो वह बूढ़ी नाराज होगी।” उसने आस्तीन ऊपर चढ़ाकर घड़ी

» Read more

जासूसों का जाल / Jasooso ka Jaal by James Hadley Chase Download Free PDF

मैकिनटॉश का ऑफिस शहर के मुख्य बाजार में था। मेरे लिये यह एक बहुत ही अप्रत्याशितसी बात थी। मुझे उसका दफ्तर खोजने में बड़ी कठिनाई का सामना करना पड़ा था। क्योंकि उसका ऑफिस ‘हालबोर्न स्ट्रीट’ और फ्लीट स्ट्रीट की भूलभूलैयां में बोसीदा-सी इमारत के चौथेखंड पर स्थित था।जोहन्सबर्ग जैसे छोटे शहर में रहने वाले मेरे लिये लन्दन की यह भूलभुलैयां

» Read more

हीरो की चोरी / Heeron ki chori by James Hadley Chase Download Free PDF

बाहर गहरा अंधेरा फैल चुका था।क्लब में बने रेस्तरां के डायनिंग हाल में गहरी खामोशी थी। मेज-कुर्सियों को करीने से सजा दिया गया था। उन पर फूल सजे हुए थे। एक कोने में आर्केस्ट्रा पडा हुआ था। थोडी देर बाद लोगों के आने का सिलसिला शुरू होने वाला था। सारे हॉल में हल्की रोशनी फैली हुई थी।क्लब के मालिक रिको

» Read more

एक खून और / Ek Khoon Aur – You Must Be Kidding by James Hadley Chase Download Free PDF

केन ब्रेन्डन जे दरवाजा खोला और अपने घर की लॉबी में दाखिल हुआ।“हाय हनी, मैं आ गया।”—उसने ऊँची आवाज कहा—“कहाँ हो तुम?”“किचन में….और कहाँ होऊँगी?”—पत्नी ने पूछा- “आज तुम जल्दी आ गए?”वो अपने घर के सजे-संवरे रसोईघर के दरवाजे पर पहुंचा जहाँ भीतर उसकी पत्नी उनका रात का खाना तैयार कर रही थी।केन ब्रेन्डन ने दरवाजे पर खड़े होकर अपनी

» Read more

कातिल हीरे / Katil Heere by James Hadley Chase Download Free PDF

जैक्सनविले नगर में सैंट जोन्स नदी के किनारे एक बढ़िया मधुशाला में दो व्यक्ति आमने सामने बैठे बातें करने में व्यस्त थे। शराबखाने में प्रकाश बस नाममात्र का था। इन ग्राहकों के अतिरिक्त पूरी मधुशाला में बस एक व्यक्ति और था और वह था मधुशाला का बूढ़ा बैरा वरना सारी मधुशाला सुनसान पड़ी थी।बाईं ओर बैठा व्यक्ति था ‘एड हडन’

» Read more

चौथा इक्का / Choutha Ekka by James Hadley Chase Download Free PDF

नाश्ते की ट्रे को पूरी तरह खाली करके और तसल्ली करके कि अब उसमें कुछ भी बाकी नहीं बचा है, जैक आरशर ने उसे एक ओर खिसका दिया। फिर उसने कॉफी के पॉट के अन्दर झांका। केतली खाली हो चुकी थी। आरशर ने दीर्घ नि:श्वास भरी। और सिगरेट जलाकर कमरे की दरो-दीवार का निरीक्षण करने लगा।oउसे याद हो आया कि

» Read more

खूनी सुंदरी / Khooni Sundari by James Hadley Chase Download Free PDF

“इन झक्कियों के बजाय मैं किसी कोढ़ी को ट्रक में जगह देना पसंद करूंगा!”हैरी मिचेल ने अपनी चौड़ी पीठ ट्रक की घड़घड़ा रही सीट की पुश्त से टिका दी। उसने सड़क की एक तरफ से निगाह हटाकर दूसरी तरफ डाली, जहां कुछ हिप्पी एक झुण्ड में अपने बैगों, कार्डबोर्ड और गिटारों के साथ बैठे इंतजार कर रहे थे।“छी: !” ट्रक

» Read more

मुर्दे नहीं बोलते / Murde nahin bolte by James Hadley Chase Download Free PDF

बार में तीन व्यक्ति थे, जो बार के निकट ही बड़ी मेज के इर्द-गिर्द बैठे व्हिस्की की चुस्कियां ले रहे थे।बाहर सड़क पर झुलसाने वाली धूप पड़ रही थी-परंतु बार का बड़ा-सा हॉल अपेक्षाकृत ठंडा था। तीनों आराम से बैठे व्हिस्की की चुस्कियां भरते गपशप लगा रहे थे।बार का मोटा मालिक, जो बार के पीछे अपनी मोटी उंगलियों में डस्टर

» Read more

सनकी कातिल / Sanaki Katil by James Hadley Chase Download Free PDF

जिस समय वह कमरे में दाखिल हुआ, उसे देखकर ग्लोरी को लगा कि कुछ गड़बड़ी है।उसने ठंडे व सपाट स्वर में उससे कहा, ‘हेलो बेबी’ और उसकी ओर देखे बिना अपना टाप कोट और हैट उतारा और उन्हें दीवान पर फेंककर आग के पास चला गया और बैठ गया। उसका चेहरा सख्त तथा पीला पड़ गया था और आंखों के

» Read more
1 2 3