चाय, चाय / Chai, Chai by Bishwanath Ghosh Download Free PDF Hindi

पुस्तक का विवरण (Description of Book) :-

नाम / Name 📥चाय, चाय / Chai, Chai
Author 🖊️
आकार / Size 2 MB
कुल पृष्ठ / Pages 📖304
Last UpdatedFebruary 27, 2022
भाषा / Language Hindi
Category,

कुछ साल पहले, एक किताब प्रकाशित की गई थी जो रेलवे जंक्शनों को हमेशा के लिए देखने के तरीके को बदल देगी।
बिश्वनाथ घोष कानपुर से चेन्नई जाते समय एक कप चाय लेने के लिए इटारसी जंक्शन पर उतरे थे। चाय की चुस्की लेते हुए, जब उसने स्टेशन से गुजरने वाली कई ट्रेनों के आगमन और देरी की घोषणा करते हुए रिकॉर्ड की गई आवाज सुनी, तो उसे लगा कि इटारसी जंक्शन रेल की मानचित्र पर भारत की लंबाई और चौड़ाई को जोड़ता है, लगभग कुछ भी नहीं पता है इटारसी, कस्बा के बारे में।
इस तरह से घोष की खोज देश के कुछ सबसे बड़े जंक्शनों के पीछे के शहरों की कहानी बताने के लिए शुरू हुई: इटारसी, मुगल सराय, झांसी, शोरानूर, अरक्कोनाम और जोलारपेट्टई स्थानों पर जो हमेशा रुकने वाले होते हैं और कभी गंतव्य नहीं; परिचित और अभी तक अज्ञात।
छोटे शहर भारत पर एक निश्चित काम 'चाय, चाय', एक त्वरित सफलता बन गया और पाठकों को अपनी प्रचुर बुद्धि और आकर्षण के साथ आकर्षित करना जारी रखता है।

हमने चाय, चाय / Chai, Chai PDF Book Free में डाउनलोड करने के लिए लिंक निचे दिया है , जहाँ से आप आसानी से PDF अपने मोबाइल और कंप्यूटर में Save कर सकते है। इस क़िताब का साइज 2 MB है और कुल पेजों की संख्या 304 है। इस PDF की भाषा हिंदी है। इस पुस्तक के लेखक   यात्रा वृतांत / YATRAVARATANAT   हैं। यह बिलकुल मुफ्त है और आपको इसे डाउनलोड करने के लिए कोई भी चार्ज नहीं देना होगा। यह किताब PDF में अच्छी quality में है जिससे आपको पढ़ने में कोई दिक्कत नहीं आएगी। आशा करते है कि आपको हमारी यह कोशिश पसंद आएगी और आप अपने परिवार और दोस्तों के साथ चाय, चाय / Chai, Chai को जरूर शेयर करेंगे। धन्यवाद।।
Q. चाय, चाय / Chai, Chai किताब के लेखक कौन है?
Answer.   यात्रा वृतांत / YATRAVARATANAT  
Download

_____________________________________________________________________________________________
आप इस किताब को 5 Stars में कितने Star देंगे? कृपया नीचे Rating देकर अपनी पसंद/नापसंदगी ज़ाहिर करें।साथ ही कमेंट करके जरूर बताएँ कि आपको यह किताब कैसी लगी?
Buy Book from Amazon

4.9/5 - (22 votes)

Leave a Comment