चौथा इक्का / Choutha Ekka by James Hadley Chase Download Free PDF

5f1ea85529739.php

नाश्ते की ट्रे को पूरी तरह खाली करके और तसल्ली करके कि अब उसमें कुछ भी बाकी नहीं बचा है, जैक आरशर ने उसे एक ओर खिसका दिया। फिर उसने कॉफी के पॉट के अन्दर झांका। केतली खाली हो चुकी थी। आरशर ने दीर्घ नि:श्वास भरी। और सिगरेट जलाकर कमरे की दरो-दीवार का निरीक्षण करने लगा।
o
उसे याद हो आया कि वह सैंट सेविन जैसे निकृष्टतम होटलों में रह चुका है। उसके मुकाबले तो यह होटल कहीं ज्यादा साफ सुथरा था। और सबसे बडी बात तो यह थी कि इससे ज्यादा सस्ता और कोई होटल पेरिस में था भी नहीं।
आरशर ने अपनी कलाई घडी की ओर दृष्टिपात किया। जो पेट्रसन से मिलने का समय हो चुका था। इस अप्वाइंटमेंट का विचार आते ही वह उस नीरस मेट्रो रेलयात्रा के विषय में सोचने लगा जो प्लाजा एंथनी होटल से आरम्भ होकर डर्बोक, इकेवेलिस कोन्कॉर्ड-फ्रेंकलिन रूजवेल्ट होकर अन्त में अलामा मार्सेयू पर समाप्त होगी।
उसकी विचारधारा अतीत की ओर मुड गई। यदि वक्त ने उसके साथ दगा न किया होता तो आज वह बहुत अमीर व्यक्ति होता। बढिया-सी वातानुकूलित कार उसके पास होती, जिसे वर्दी….

3.3/5 - (3 votes)

Leave a Comment