शर्तें लागू pdf | Sharten Laagoo

ऐसी किताबें हैं जो पढ़ते समय एक किताब की तरह महसूस होती हैं, और फिर that शार्टन लागाओ ’होती है। सरल और जीवंत कहानियां आपको अपने स्वयं के जीवन पर एक नज़र डालने के लिए मजबूर करती हैं, और याद रखें कि जब आप इन घटनाओं को अपने दिमाग के पीछे डालते हैं। यह सिर्फ कहानियों का संग्रह और सच्ची घटना नहीं

» Read more

मसाला चाय PDF | Masala Chai

मसाला चाय आंशिक रूप से संवेदनशील, आंशिक रूप से गहरी और पूरी तरह से करामाती कहानियों का एक और वर्गीकरण है जो उनके अत्यधिक चौकस और मेहनती लेखक की पहचान बनने लगी है। हर कहानी की जड़ें सांसारिक हैं। लेकिन यह सरल के गहन और गहन प्रतिपादन का सरल प्रतिपादन है जो इन सभी कहानियों को एक अनूठा स्वाद देता

» Read more

मुसाफिर कैफे PDF | Musafir Cafe

हम सभी की जिंदगी में एक लिस्ट होती है। हमारे सपनों की लिस्ट, छोटी-मोटी खुशियों की लिस्ट। सुधा की जिंदगी में भी एक ऐसी ही लिस्ट थी। हम सभी अपनी सपनों की लिस्ट को पूरा करते-करते लाइफ गुज़ार देते हैं। जब सुधा अपनी लिस्ट पूरी करते हुए लाइफ़ की तरफ़ पहुँच रही थी तब तक चंदर 30 साल का होने

» Read more

आको-बाको PDF। Aako Baako

दो दोस्त, जो ढूँढ़ने चले हैं कि कविता आख़िर कहाँ से आती है। एक छोटे शहर की सुपर मॉम, जो रोज़ टीवी पर आने का सपना देखती है। भोपाल की वो लड़की, जो अब भी अपने मुंबई के पेन फ़्रेंड को हाथ से लिखी चिट्ठियाँ भेजती है। एक मॉडल, जिसका एक गाना हिट होने के बाद सब कुछ फ़्लॉप हो

» Read more

अक्टूबर जंक्शन PDF / October Junction

चित्रा और सुदीप सच और सपने के बीच की छोटी-सी खाली जगह में ‍10 अक्टूबर 2010 को मिले और अगले 10 साल हर 10 अक्टूबर को मिलते रहे। एक साल में एक बार, बस। अक्टूबर जंक्शन के ‘दस दिन’ 10/अक्टूबर/ 2010 से लेकर 10/अक्टूबर/2020 तक दस साल में फैले हुए हैं। एक तरफ सुदीप है जिसने क्लास 12th के बाद

» Read more

इब्नेबतूती / Ibnebatuti

होता तो यह है कि बच्चे जब बड़े हो जाते है तो उनके माँ-बाप उनकी शादी कराते हैं लेकिन इस कहानी में थोड़ा-सा उल्टा है, या यूँ कह लीजिए कि पूरी कहानी ही उल्टी है। राघव अवस्थी के मन में एक बार एक उड़ता हुआ ख़याल आया कि अपनी सिंगल मम्मी के लिए एक बढ़िया-सा टिकाऊ बॉयफ्रेंड या पति खोजा

» Read more