क्या कहें जब स्वयं से बात करें / Kya Kahen Jab Swayam Se Baat Karen

इस पुस्तक में नई, बेजोड़ शब्द दर शब्द प्रोग्रामिंग सिखाई गई है, जिसका प्रयोग कोई भी, किसी भी समय कर सकता है और अपने अवचेतन मन के नियंत्रण केंद्र को नए, सतत निर्देश देकर उसकी प्रोग्रामिंग को बदल सकता है। आप अपने मस्तिष्क तक पहुँचने वाले सभी मौन, बोले गए या लिखे गए संदेशों को नियंत्रित करते हैं, जिससे आपके

» Read more