माटी की मूरतें / Maati Ki Moorten PDF Download Free Hindi Books by Ramvriksh Benipuri

रामवृक्ष बेनीपुरी माटी की मूरतें PDF Download , Mati Ki murte PDF Download Free, रामवृक्ष बेनीपुरी माटी की मूरतें PDF Download , Mati Ki murte PDF Download Free

पुस्तक का विवरण (Description of Book) :-

नाम / Name 📥माटी की मूरतें / Maati Ki Moorten
Author 🖊️
आकार / Size 0.82 MB
कुल पृष्ठ / Pages 📖67
Last UpdatedApril 20, 2022
भाषा / Language Hindi
Category,

जब कभी आप गाँव की ओर निकले होंगे; आपने देखा होगा; किसी बड़ या पीपल के पेड़ के नीचे; चबूतरे पर कुछ मूरतें रखी हैं—माटी की मूरतें! ये मूरतें—न इनमें कोई खूबसूरती है; न रंगीनी। किंतु इन कुरूप; बदशक्ल मूरतों में भी एक चीज है; शायद उस ओर हमारा ध्यान नहीं गया; वह है जिंदगी! ये माटी की ब नी हैं; माटी पर धरी हैं; इसीलिए जिंदगी के नजदीक हैं; जिंदगी से सराबोर हैं। ये देखती हैं; सुनती हैं; खुश होती हैं; शाप देती हैं; आशीर्वाद देती हैं। खुश हुईं—संतान मिली; अच्छी फसल मिली; यात्रा में सुख मिला; मुकदमे में जीत मिली। इनकी नाराजगी—बीमार पड़ गए; महामारी फैली; फसल पर ओले गिरे; घर में आग लग गई।
ये मूरतें जिंदगी के नजदीक ही नहीं; जिंदगी में समाई हुई हैं। इसलिए जिंदगी के हर पुजारी का सिर इनके नजदीक आप-ही-आप झुक जाता है। ये कहानियाँ नहीं; जीवनियाँ हैं! ये चलते-फिरते आदमियों के शब्दचित्र हैं। सुप्रसिद्ध लेखक श्रीरामवृक्ष बेनीपुरी कहते हैं—‘मानता हूँ; कला ने उन पर पच्चीकारी की है; किंतु मैंने ऐसा नहीं होने दिया कि रंग-रंग में मूल रेखाएँ ही गायब हो जाएँ। मैं उसे अच्छा रसोइया नहीं समझता; जो इतना मसाला रख दे कि सब्जी का मूल स्वाद ही नष्ट हो जाए।’ जिंदगी के विविध रंगों को रेखांकित करतीं बेनीपुरीजी की सशक्त लेखनी से निकली रोचक; मार्मिक व संवेदनशील रेखाचित्र।

 

 

 

 

हमने माटी की मूरतें / Maati Ki Moorten PDF Book Free में डाउनलोड करने के लिए लिंक निचे दिया है , जहाँ से आप आसानी से PDF अपने मोबाइल और कंप्यूटर में Save कर सकते है। इस क़िताब का साइज 0.82 MB है और कुल पेजों की संख्या 67 है। इस PDF की भाषा हिंदी है। इस पुस्तक के लेखक   श्रीरामवृक्ष बेनीपुरी / Ramvriksh Benipuri   हैं। यह बिलकुल मुफ्त है और आपको इसे डाउनलोड करने के लिए कोई भी चार्ज नहीं देना होगा। यह किताब PDF में अच्छी quality में है जिससे आपको पढ़ने में कोई दिक्कत नहीं आएगी। आशा करते है कि आपको हमारी यह कोशिश पसंद आएगी और आप अपने परिवार और दोस्तों के साथ माटी की मूरतें / Maati Ki Moorten को जरूर शेयर करेंगे। धन्यवाद।।
Q. माटी की मूरतें / Maati Ki Moorten किताब के लेखक कौन है?
Answer.   श्रीरामवृक्ष बेनीपुरी / Ramvriksh Benipuri  
Download

_____________________________________________________________________________________________
आप इस किताब को 5 Stars में कितने Star देंगे? कृपया नीचे Rating देकर अपनी पसंद/नापसंदगी ज़ाहिर करें।साथ ही कमेंट करके जरूर बताएँ कि आपको यह किताब कैसी लगी?
Buy Book from Amazon
5/5 - (48 votes)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *