अजेय: पासों का खेल / Ajaya: Paason ka Khel / Ajeya

यह भारत के सबसे बड़े महाकाव्यों, महाभारत पर आधारित एक कहानी है। लेकिन, जबकि जय – पांडवों की जीत के बारे में कहानी थी, अजय -कौरवों के दृष्टिकोण से कहानी है।

» Read more

कलि का उदय : दुर्योधन की महाभारत / Kali Ka Uday – Duryodhan Ki Mahabharat

कलि का उदय दुर्योधन की महाभारत महाभारत को एक महान महाकाव्य के रूप में चित्रित किया जाता रहा है I परंतु जहाँ एक ओर जय पांडवों की कथा है, जो कुरुक्षेत्र के विजेताओं के दृष्टिकोण को ध्यान में रखते हुए प्रस्तुत की गई हैं, जो कुरुक्षेत्र के विजेताओं के दृष्टिकोण को ध्यान में रखते हुए प्रस्तुत की गई है; वही

» Read more

शिवगामी कथा बाहुबली खंड 1 / Shivagami Katha Bahubali Khanda 1: The Rise Of Sivagami Hindi

काली अंधेरी रात थी। वारों ओर मृत्यु सा सन्नाटा पसरा था। सब कुछ उसके अनुकूल था। वह नहीं चाहती थी कि कोई उन्हें देखे। रथ पर एक छोटी लालटेन टंगी थी, जो हर झटके के साथ झूम रही थी। वह इसे भी बुडा देती किंतु रास्ता ऊबड़-खाबड़ था।दोनों ओर से जंगल उन पर ऐसे टूट पड़ रहा था, मानो कह

» Read more

शिवगामी कथा बाहुबली खंड 1 / Shivagami Katha Bahubali Khanda 1: The Rise Of Sivagami Hindi

जब पाँच वर्षीय शिवागामी अपने पिता को देशद्रोही करार देती है और महिष्मती के महाराजा द्वारा निष्पादित किया जाता है, तो वह एक दिन राज्य को नष्ट करने की प्रतिज्ञा करती है। सत्रह साल की उम्र में, वह अपनी ढहने वाली पैतृक हवेली से एक पांडुलिपि प्राप्त करती है। पयासाची नामक एक अजीब भाषा में लिखी गई, पांडुलिपि में एक रहस्य है

» Read more

असुर / Asur: Parajiton Ki Gatha, Ravan Va Uski Praja Ki Kahani by Anand Neelkanthan

नंबर 1 राष्ट्रीय बेस्टसेलर रहे अंग्रेज़ी उपन्यास के इस हिन्दी अनुवाद में लंकापति रावण व उसकी प्रजा की कहानी सुनाई गई है। यह गाथा है जय और पराजय की, असुरों के दमन की — एक ऐसी कहानी की जिसे भारत के दमित व शोषित जातिच्युत 3000 वर्षों से सँजोते आ रहे हैं। रामायण के उलट, रावणायन की कथा अब तक

» Read more