द गर्ल इन रूम 105 | The Girl in Room 105 by Chetan Bhagat Download Free PDF

छह महीने पहलेo‘स्टॉप, मेरे भाई, स्टॉप,’ सौरभ ने मेरे हाथ से व्हिस्की का गिलास छुड़ाते हुए कहा।‘मैं नशे में नहीं हूं,’ मैंने कहा| हम मेकशिफ्ट बार के पास ड्राइंग रूम के एक कोने में बैठे हुए थे। कोचिंग क्लास फैकल्टी के बाकी के लोग अरोरा सर के इर्द-गिर्द जमा थे। वे कभी भी उनकी लल्लो-चप्पो करने का मौका नहीं गंवाते

» Read more

द 3 मिस्टेक्स ऑफ माई लाइफ | The 3 Mistakes of my life by Chetan Bhagat Download Free PDF

मैं एक और चीज बदलना चाहता हूं। लोग जो एक दूसरे के बारे में बातें बनाते हैं गलत विचार धाराएं बनाते और फैलाते हैं। जैसे कि ओमी के मूर्ख बनने की बात कि क्रिकेट बॉल सिर पर लगने से दिमाग पर असर हो गया। इसका कोई आधार नहीं पर बेलरामपुर का हर व्यक्ति यही बात कहता है और ईश के

» Read more

फाइव पॉइंट समवन | Five Point Someone by Chetan Bhagat Download Free PDF

इससे पहले कि मैं पुस्तक की शुरुआत करूँ, मैं आप सभी को यह साफ बताना चाहता हूँ कि यह पुस्तक किस बारे में नहीं है। यह पुस्तक कॉलेज के जीवन के मार्गदर्शन के लिए नहीं है। इसके विपरीत, यह एक उदाहरण है कि कैसे आपके कॉलेज के साल खराब हो सकते हैं। यह आपकी अपनी सोच है कि आप इससे

» Read more

द गर्ल इन रूम 105 / The Girl in Room 105

हाय, मैं केशव हूँ, और मेरा जीवन खराब हो गया है। मुझे अपनी नौकरी से नफरत है और मेरी प्रेमिका ने मुझे छोड़ दिया। आह, सुंदर ज़ारा। ज़ारा कश्मीर से है। वह मुस्लिम है। और क्या मैंने आपको बताया कि मेरा परिवार थोड़ा अच्छा है, पारंपरिक है? वैसे भी, कि छोड़ो। ज़रा और मैं चार साल पहले टूट गए। वह जीवन में आगे बढ़ी। मैंने नहीं किया। मैं उसे

» Read more

द 3 मिस्टेक्स ऑफ माई लाइफ / The 3 Mistakes of My Life

अहमदाबाद का एक लड़का गोविंद एक व्यवसाय के मालिक होने का सपना देखता है। उनके दोस्त, ईश और ओमी, क्रिकेट का सपना देखते हैं। अपने सभी जुनून को समायोजित करने के लिए, तीन उद्यमी क्रिकेट की दुकान खोलते हैं। जबकि गोविंद पैसा कमाना चाहता है और बड़ा सोचता है, ईश सभी अली के पोषण के बारे में है, जो एक दुर्लभ उपहार

» Read more

फाइव पॉइंट समवन / Five Point Someone

अपनी क्षमता, इच्छाशक्ति और कुछ हासिल करने की शिद्दत से युवा सफल हो सकते हैं-यह मूल संदेश है। रेयान दौड़कर बोर्ड के पास मौजूद और पहली पंक्ति के नाइन पॉइंटर मुसकराए कि एक फाइव पॉइंटर क्लास के लिए योगदान देंगे। हालांकि समीकरण सही था; रेयान बोर्ड तक नहीं जाता, जब तक कि वह यह न जान ले कि वह सही है।

» Read more

वन नाइट @ द कॉल सेंटर | One Night @ The Call Centre by Chetan Bhagat Download Free PDF

कानपुर से दिल्ली ट्रेन में रात का सफर मेरी जिंदगी का सबसे यादगार सफर था| पहला इसलिए कि इसने मुझे मेरी दूसरी किताब दी। और दूसरा इसलिए कि यह रोज-रोज नहीं होता है कि आप एक खाली कंपार्टमेंट में बैठे हों और एक खूबसूरत जवान लड़की अंदर आ जाती हो।हाँ, आप इसे बस फिल्मों में देखते हैं। आप इसके बारे

» Read more

रेवोल्यूशन 2020 | Revolution 2020 by Chetan Bhagat Download Free PDF

‘लेजी पैरेंट्स, आज फिर ब्रेड एंड बटर,’ मैं दूसरी कतार में एक नीले प्लास्टिक टिफिन को बंद करते हुए बड़बड़ाया। राघव और मैं दूसरी डेस्क पर चले आए।‘छोड़ो भी, गोपाल| क्लास किसी भी समय फिर से लग सकती है,’ राघव ने कहा।‘श्श्श…’‘मैं पूरी-आलू लाया हूं, हम उसे बांटकर खा सकते हैं। दूसरों का खाना चुराना अच्छी बात नहीं है।’मैं एक

» Read more

रेवोल्यूशन 2020 | Revolution 2020

एक बार भारत के छोटे से शहर में दो बुद्धिमान लड़के रहते थे। एक पैसा बनाने के लिए अपनी बुद्धि का इस्तेमाल करना चाहता था। एक क्रांति शुरू करने के लिए अपनी बुद्धि का उपयोग करना चाहता था। समस्या यह थी, वे दोनों एक ही लड़की से प्यार करते थे। क्रांति 2020 में आपका स्वागत है , बचपन के दोस्तों गोपाल और

» Read more

वन नाइट @ द कॉल सेंटर / One Night @ The Call Centre

2004 की सर्दियों में, एक लेखक रात भर ट्रेन में एक युवा लड़की से मिलता है। समय बीतने के लिए, वह उसे एक कहानी बताने की पेशकश करती है। लेकिन उसकी एक शर्त है: कि वह इसे अपनी दूसरी किताब बनाए। लेखक हिचकिचाता है लेकिन पूछता है कि कहानी क्या है। लड़की जवाब देती है कि कहानी एक कॉल सेंटर में काम करने

» Read more

हाफ गर्लफ्रेंड | Half Girlfriend

एक बार की बात है, माधव नामक एक बिहारी लड़का था। उसे रिया नाम की लड़की से प्यार हो गया। माधव ने अच्छी तरह से अंग्रेजी नहीं बोली। रिया ने किया। माधव एक रिश्ता चाहता था। रिया ने नहीं किया। रिया सिर्फ दोस्ती चाहती थी। माधव ने नहीं। रिया ने समझौता करने का सुझाव दिया। वह उसकी आधी प्रेमिका बनने के लिए राज़ी हो गई।

» Read more

हाफ गर्लफ्रेंड |Half Girlfriend by Chetan Bhagat Download Free PDF

‘कहाँ पर?’ मैंने हाँफते हुए पूछा।इंटरव्यू शुरू होने में दो मिनट का वक्त बाकी था और मुझे अपना रूम नहीं मिल रहा था। सेंट स्टीफेंस कॉलेज के भूलभुलैयानुमा गलियारों में भटकते हुए मुझे जो मिलता, मैं उसी से रास्ता पूछने लगता।बहुत-से स्टूडेंट्स ने मुझे इग्नोर कर दिया। कुछ तो मुझे देखकर खी-खी कर हँसने लगे।पता नहीं क्यों।वेल, अब मुझे पता

» Read more
1 2