सेपियन्स : मानव जाति का एक संक्षिप्त इतिहास pdf | Sapiens: Manav Jati ka Sankshipt Itihas

  डॉ युवाल नोआ हरारी द्वारा लिखित किताब ‘सेपियन्स’ में मानव जाति के संपूर्ण इतिहास को अनूठे परिप्रेक्ष्य में अत्यंत सजीव ढंग से प्रस्तुत किया गया है। यह प्रस्तुतिकरण अपने आप में अद्वितीय है। प्रागैतिहासिक काल से लेकर आधुनिक युग तक मानव जाति के विकास की यात्रा के रोचक तथ्यों को लेखक ने शोध पर आधारित आँकडों के साथ इस

» Read more

एक मुलाकात – जवाहरलाल नेहरू के साथ PDF | Ek Mulakat – Jawaharlal Nehru Ke Sath

किसी भी विश्वविद्यालय में अपने पठन-पाठन से सम्बंधित सुविधाओं को लेकर छात्र-आन्दोलन होना एक सामान्य सी बात है । लेकिन, यदि आप पाएं कि इन छात्र-आन्दोलनों के बीचों-बीच सत्ता-विरोधी ही नहीं अपितु भारत-विरोधी नारों के स्वर गूंजने लगें हैं तो आपके मन में चिंता के साथ-साथ यह जानने की उत्सुकता भी होने लगती है कि इन राष्ट्र- विरोधी नारों के

» Read more

आज़ादी की कहानी PDF | Aazadi Ki Kahani

इतिहास, डॉ विजय अग्रवाल को यह विषय इतना प्रिय था कि उन्होंने इसे प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा के रूप में आईएएस में रखा। सिविल सेवा के उम्मीदवारों के अंतिम तीस वर्षों का मार्गदर्शन किया जाता है। इन दो गहन अंतर्दृष्टि का सामंजस्य उन्होंने इस विषय को दिया है। यह पुस्तक उसी का परिणाम है, ‘ ‘आज़ादी की कहानी ‘ ‘इस

» Read more

छत्रपति शिवाजी / Chhatrpati Shivaji

छत्रपति शिवाजी हम शिवाजी की जीवनी संक्षेप में लिख रहे है । इसे पढ़कर पाठकों को ज्ञात होगा कि शिवाजी में महान् पुरुष होने के सभी गुण विद्यमान थे । शिवाजी प्रबंध में जितने निपुण थे, संगठन की शक्ति को भी भली-भांति जानते थे । वह संगठन के सिद्धात का ज्ञान रखते थे । वह युद्धविद्या में निपुण थे ।

» Read more

केनेडी – बदलती दुनिया का चश्मदीद PDF / Kennedy Badalti Duniya Ka Chasmadeed

यह किताब अमेरिका के बनने से लेकर, वहाँ के गृह युद्ध, दोनों विश्व युद्ध से गुजरती शीत युद्ध तक आती है। भारत से अमेरिका के सम्बन्ध और भारत चीन युद्ध पर विशेष अंश हैं। अमेरिका के नस्लवाद और मार्टिन लूथर किंग की कहानी तो है ही, केनेडी का जीवन और मृत्यु भी इसकी रोचकता का महत्वपूर्ण अंश है। साथ ही

» Read more

सुभाषचंद्र बोस की अधूरी आत्मकथा / Subhash Chandra Bose Ki Adhoori Atmkatha

सुभाषचंद्र बोस की ‘भारत की खोज’; जवाहरलाल नेहरू की तुलना में उनके जीवन में काफी पहले ही हो गई; यानी उन दिनों वे अपनी किशोरावस्था में ही थे। वर्ष 1912 में पंद्रह वर्षीय सुभाष ने अपनी माँ से पूछा था; ‘स्वार्थ के इस युग में भारत माता के कितने निस्स्वार्थ सपूत हैं; जो अपने निजी स्वार्थ को त्याग कर इस

» Read more

भारत में असोक – राज | Bhaarat Mein Asok – Raaj

भूमिका भारत में असोक – राज नामक यह पुस्तक विश्व के महान सम्राट असोक के जीवन तथा उपलब्धियों को केंद्र बनाकर लिखी गई है। पुस्तक में असोक तथा असोक – राज के बारे में जानकारी देने के लिए मुख्यतः उनके ही अभिलेखों को आधार बनाया गया है। कारण कि असोक पर लिखे साहित्य में बड़े पैमाने पर मिलावट है। असोक

» Read more

एमरजेंसी की इनसाइड स्टोरी / Emergency Ki Inside Story

‘इन सबकी शुरुआत उड़ीसा में 1972 में हुए उप-चुनाव से हुई। लाखों रुपए खर्च कर नंदिनी को राज्य की विधानसभा के लिए चुना गया था। गांधीवादी जयप्रकाश नारायण ने भ्रष्टाचार के इस मुद्दे को प्रधानमंत्री के सामने उठाया। उन्होंने बचाव में कहा कि कांग्रेस के पास इतने भी पैसे नहीं कि वह पार्टी दफ्तर चला सके। जब उन्हें सही जवाब

» Read more

भारतीय सेना के शूरवीरों की शौर्यगाथाएं / Bharatiya Sena Ke Shoorveeron Ki Shauryagathayen

भारत के सैन्य बलों की सच्ची वीरता की कहानियाँ; सेना के मेजर; जिन्होंने नियंत्रण रेखा के पार आतंकवादियों के लॉन्च पैड पर बहुचर्चित सर्जिकल स्ट्राइक की; एक सैनिक; जिसने 11 दिनों में 10 आतंकवादियों को मार गिराया; नौसेना का एक अधिकारी; जिसने समुद्र के रास्ते एक खतरनाक बंदरगाह तक का सफर किया और युद्ध की विस्फोटक स्थिति से सैकड़ों लोगों

» Read more

आज़ादी आधी रात को / Aazadi Aadhi Raat Ko / Freedom at Midnight

‘आजादी आधी रात को’ डोमिनीक लापिएर और लैरी कॉलिन्स की विश्वप्रसिद्ध पुस्तक ’फ्रीडम एट मिडनाइट’ का हिंदी अनुवाद है। माउंटबेटन की मुख्य भूमिका वाली यह पुस्तक हमें बताती है कि अंतिम वायसराय का रुझान बंटवारे के खिलाफ था और अगर उन्हें इस बात का पता चल गया होता कि जिन्ना ‘सिर्फ कुछ महीनों के मेहमान’ है, तो माउंटबेटन बंटवारे के

» Read more

कश्मीर समस्या और पृष्ठभूमि | Kashmeer Samasya Aur Prashthbhumi

काश्मीर का इतिहास जम्मू और काश्मीर राज्य का क्षेत्रफल ८६,०२३ वर्गमील है। प्राकार में यह इंग्लैंड, वेल्स और स्काटलैंड के बराबर है। यह उत्तर में अफगानिस्तान, चीन और रूस तथा पश्चिम और दक्षिण में पाकिस्तान से घिरा है। इसकी आबादी मिश्रित है। ७७ प्रतिशत मुसलमान, २० प्रतिशत हिन्दू ३ प्रतिशत सिख और बौद्ध मत के अनु यायी व अन्य अल्पसंख्यक

» Read more

डॉ. अम्बेडकर और कश्मीर समस्या / Dr. Ambedkar aur Kashmir Samasya

डॉ० बाबा साहेब अम्बेडकर स्वयं ‘ मानवीय कल्याण के विचारों के महाग्रंथ ‘ ही है | वे अंतरराष्ट्रीय ख्याति के राजनीतिज्ञ थे | भारत की आजादी का इतिहास कुछ इने-गिने लोगों को ही सामने रखकर लिया गया और डॉ० अम्बेडकर का व्यक्तित्व उसमे राष्ट्रद्रोही के रूप में चित्रित किया गया | इसलिए लगता है की उनके राजनैतिक विचारों को कई

» Read more
1 2 3