सेपियन्स : मानव जाति का एक संक्षिप्त इतिहास pdf | Sapiens: Manav Jati ka Sankshipt Itihas

  डॉ युवाल नोआ हरारी द्वारा लिखित किताब ‘सेपियन्स’ में मानव जाति के संपूर्ण इतिहास को अनूठे परिप्रेक्ष्य में अत्यंत सजीव ढंग से प्रस्तुत किया गया है। यह प्रस्तुतिकरण अपने आप में अद्वितीय है। प्रागैतिहासिक काल से लेकर आधुनिक युग तक मानव जाति के विकास की यात्रा के रोचक तथ्यों को लेखक ने शोध पर आधारित आँकडों के साथ इस

» Read more

दैनिक प्रेरणा PDF | Dainik Prerna

उठाएँ अगला कदम ..द सीक्रेट (रहस्य) इस सद्धांत को स्पष्ट करता हैं कि अपने जीवन को प्राकृतिक नियमों के अनुरूप कैसे जिएँ, लेकिन हर व्यक्ति के लिए सबसे अहम् बात हैं इसे जीना। द सीक्रेट- दैनिक प्रेरणा के ज़रिए रॉन्डा बर्न पूरे वर्ष के लिए सुविचारों की श्रंखला प्रस्तुत कर रही हैं, बुद्धिमत्ता भरी बातें और सभी को नियंत्रित करने

» Read more

हीरो PDF | Hero

यह कहानी इस बारे में है कि आप इस पृथ्वी नामक ग्रह पर क्यों हैं। इस किताब में आज के संसार के बारह सबसे सफल लोग अपनी असंभव दिखने वाली कहानियाँ बता रहे हैं और यह दिखा रहे हैं कि आप हर उस चीज़ के साथ पैदा हुए थे, जिसकी ज़रूरत आपको अपना सबसे महान सपना पूरा करने के लिए

» Read more

जादू (द मैजिक) PDF | Jadu

2000 वर्षों से भी अधिक समय पहले की बात है, जब कुछ गूढ़ शब्दों को एक धर्मग्रंथ में छिपाया गया था। इतिहास में सिर्फ चंद लोगों को ही यह अहसास हुआ कि वे शब्द साधारण नहीं हैं, बल्कि एक पहेली जैसे हैं और एक बार जब आप इस पहेली को सुलझा लेते हैं – एक बार जब आप इस रहस्य

» Read more

शक्ति (द पावर) PDF | Shakti

द सीक्रेट की लेखिका रान्डा बर्न की इस किताब में अदभुत जीवन जीने का तरीका बताया गया है। इसे वे शक्‍ति का नाम देती हैं। यह अंतर्राष्ट्रीय बेस्टसेलर – द पावर – का हिंदी अनुवाद है जो एक जीवन बदलने वाली पुस्तक है और आपको जीवन में आने वाली सभी समस्याओं का प्रभावी समाधान प्रदान करती है। यह आपको इस

» Read more

मैं कौन हूँ PDF | Main Kaun Hoon

‘मैं कौन हूँ’ में स्वामीजी ने सरल शब्दों में एक आम आदमी के उन सवालों के जवाब दिए हैं, उन जिज्ञासाओं को शांत करने का प्रयास किया है जिनमें वह अकसर उलझ कर रह जाता है – कि आखिर वह है कौन? ये आत्मा-परमात्मा कौन हैं? स्वयं को कैसे जाना जा सकता है? उसके जीवन का उद्देश्य क्या है? धर्म

» Read more

भारतीय संस्कृति और सेक्स PDF | Bhartiya Sanskriti Aur Sex

जहाँ तक ‘हिन्दू संस्कृति’ का प्रश्न है, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पुरोधाओं ने जिस रूप में इसकी व्याख्या की, पहले भी लिखा जा चुका है कि वह बहुत ही संकुचित और विकृत व्याख्या है, जो लोगों में इस संस्कृति के प्रति एक भ्रम पैदा करती है। जिन विद्वानों ने वास्तविकता पर आधारित तथ्यपरक व्याख्या की, उनको यह कहकर सिरे से

» Read more

अवंतिका / Avantika

हजारों साल पहले नागलोक की एक रहस्यमयी स्त्री ने ईश्वर के विरुद्ध एक खूनी समुदाय का गठन किया था। इस समुदाय के लोग खुद को ‘कलि’ कहते थे और अश्वत्थामा को अपना ईष्ट मानते हुए, अनंत काल तक भूलोक पर भटकने के उस शाप के प्रभाव को निष्क्रिय करना चाहते थे, जो श्रीकृष्ण ने उन्हें दिया था। पांच हजार साल

» Read more

मौत के बाद / Maut Ke Baad

चौदहवीं शताब्दी की शुरूआत में वेटिकन सिटी स्थित ‘रोमन कैथोलिक चर्च’ के तत्कालीन पादरी और कैथोलिक सम्प्रदाय के सबसे बड़े मुखिया पोप ‘जॉन अष्टम’ की उस शाम जहर देकर हत्या कर दी गयी, जिस शाम उन्होंने बाइबिल के उस अध्याय को बदलने का आदेश जारी किया था, जो इस बात की गवाही देता था कि वेटिकन की धरती पर जीसस

» Read more

काला मोती: ब्रह्मकण शक्ति / Kala Moti Brahmakan

सप्तशक्ति- ब्रह्मांड के निर्माण के लिये ईश्वर ने पहले सप्तशक्तियों का निर्माण किया। ये सप्तशक्तियां थीं- वायु, जल, अग्नि, पृथ्वी, आकाश, ध्वनि और प्रकाश। इन सभी सप्तशक्तियों ने मिलकर ब्रह्मांड में उपस्थित सभी ग्रहों की रचना की। परंतु अभी भी जीवन की उत्पत्ति संभव नहीं हो सकी थी। जीवन की उत्पत्ति के लिये ब्रह्मदेव ने एक कण की रचना की,

» Read more

देवशक्ति: अद्भुत दिव्यास्त्र / Devashakti Adbhut Divyashtra

प्राक्कथन शक्ति- एक ऐसा शब्द जिसे प्राप्त करने के लिये, मनुष्य, देवता, दैत्य ही नहीं अपितु अंतरिक्ष के जीव भी सदैव लालायित रहते हैं। शक्ति का पर्याय स्वामित्व से जुड़ता है, इसलिये ब्रह्मांड के सभी जीव शक्ति को प्राप्त कर, स्वयं को श्रेष्ठ दिखाना चाहते हैं। वन में मौजूद एक सिंह भी, अन्य वन्य प्राणियों के समक्ष अपनी शक्ति का

» Read more

तिलिस्मा अविश्वसनीय मायाजाल / Tilisma Awishwniya Mayajaal

कल्पना- एक ऐसा शब्द जो अपने अंदर संपूर्ण ब्रह्मांड को समेटे है। इस ब्रह्मांड में लहराता हुआ सागर भी है और सितारों से भरा आकाश भी। इस ब्रह्मांड में प्रकृति के सुंदर रंग भी हैं और समस्त जीवों की असीम भावनाएं भी। तो क्यों ना इस कल्पना की कूची से, अपने जीवन को एक नया रंग देकर देखें। यकीन मानिये,

» Read more
1 2