NRI नॉन रेसिडेंट आईआईटीयंस PDF | NRI Non Resident IITians PDF Download by Kishore Kashyap

इंजीनियरिंग के बाद छोटे शहर के चार दोस्त कोचिंग के लिए दिल्ली जाते हैं और उन्हें IIT में प्रवेश लिए बिना IIT में पढ़ने का रास्ता मिल जाता है, फिर उनका सामना दिल्ली के परीक्षा माफिया से होता है। क्या वे जीवित रहते हैं? पुस्तक का कुछ अंश कंप्यूटर पर बज रहा है मोहम्मद रफ़ी का गाना, तोप सिंह ने

» Read more

अवंतिका / Avantika

हजारों साल पहले नागलोक की एक रहस्यमयी स्त्री ने ईश्वर के विरुद्ध एक खूनी समुदाय का गठन किया था। इस समुदाय के लोग खुद को ‘कलि’ कहते थे और अश्वत्थामा को अपना ईष्ट मानते हुए, अनंत काल तक भूलोक पर भटकने के उस शाप के प्रभाव को निष्क्रिय करना चाहते थे, जो श्रीकृष्ण ने उन्हें दिया था। पांच हजार साल

» Read more

मौत के बाद / Maut Ke Baad

चौदहवीं शताब्दी की शुरूआत में वेटिकन सिटी स्थित ‘रोमन कैथोलिक चर्च’ के तत्कालीन पादरी और कैथोलिक सम्प्रदाय के सबसे बड़े मुखिया पोप ‘जॉन अष्टम’ की उस शाम जहर देकर हत्या कर दी गयी, जिस शाम उन्होंने बाइबिल के उस अध्याय को बदलने का आदेश जारी किया था, जो इस बात की गवाही देता था कि वेटिकन की धरती पर जीसस

» Read more

आवाज़ / Aawaz

वह एक आवाज थी, जो कैथरीन को खतरों से आगाह करती थी लेकिन फिर कुछ ऐसा हुआ कि उस आवाज का राज़ तलाशना कैथरीन के लिए निहायत ही जरूरी हो गया। और जब राज़ सामने आया तो उसके होश उड़ गए। क्या था आवाज़ का राज़? रहस्य के ताने-बाने से बुना एक पैरानॉर्मल थ्रिलर।   काला जादू,सुपर नेचुरल शक्तियों ईसाई

» Read more

काला मोती: ब्रह्मकण शक्ति / Kala Moti Brahmakan

सप्तशक्ति- ब्रह्मांड के निर्माण के लिये ईश्वर ने पहले सप्तशक्तियों का निर्माण किया। ये सप्तशक्तियां थीं- वायु, जल, अग्नि, पृथ्वी, आकाश, ध्वनि और प्रकाश। इन सभी सप्तशक्तियों ने मिलकर ब्रह्मांड में उपस्थित सभी ग्रहों की रचना की। परंतु अभी भी जीवन की उत्पत्ति संभव नहीं हो सकी थी। जीवन की उत्पत्ति के लिये ब्रह्मदेव ने एक कण की रचना की,

» Read more

देवशक्ति: अद्भुत दिव्यास्त्र / Devashakti Adbhut Divyashtra

प्राक्कथन शक्ति- एक ऐसा शब्द जिसे प्राप्त करने के लिये, मनुष्य, देवता, दैत्य ही नहीं अपितु अंतरिक्ष के जीव भी सदैव लालायित रहते हैं। शक्ति का पर्याय स्वामित्व से जुड़ता है, इसलिये ब्रह्मांड के सभी जीव शक्ति को प्राप्त कर, स्वयं को श्रेष्ठ दिखाना चाहते हैं। वन में मौजूद एक सिंह भी, अन्य वन्य प्राणियों के समक्ष अपनी शक्ति का

» Read more

तिलिस्मा अविश्वसनीय मायाजाल / Tilisma Awishwniya Mayajaal

कल्पना- एक ऐसा शब्द जो अपने अंदर संपूर्ण ब्रह्मांड को समेटे है। इस ब्रह्मांड में लहराता हुआ सागर भी है और सितारों से भरा आकाश भी। इस ब्रह्मांड में प्रकृति के सुंदर रंग भी हैं और समस्त जीवों की असीम भावनाएं भी। तो क्यों ना इस कल्पना की कूची से, अपने जीवन को एक नया रंग देकर देखें। यकीन मानिये,

» Read more

मायावन एक रहस्यमय जंगल / Mayawan Ek Rahasyamayi Jungle

लेखक की कलम से: माया सभ्यता अमेरिका की सबसे प्राचीन सभ्यताओं में गिनी जाती है, जिसके प्राप्त अवशेषों में भगवान शिव, गणेश और नरसिंह आदि देवताओं की मूर्तियां प्रचुर मात्रा में पायी गयी हैं। भारतवर्ष से इतनी दूर आखिर कैसे हिंदू सभ्यता विकसित हुई? यह आज भी रहस्य बना हुआ है। कुछ पुरातत्वविद् माया सभ्यता का सम्बन्ध दैत्यराज मयासुर से

» Read more

अटलांटिस एक रहस्यमय द्वीप / Atlantis Ek Rahasyamaya Dweep

लेखक की कलम से: हम जब भी अटलांटिस के बारे में सोचते हैं, हमारी आँखों के सामने सागर में डूबी एक भव्य सभ्यता नजर आने लगती है। अटलांटिस देवताओं की वह धरती जिसका जिक्र सर्वप्रथम प्लेटो ने अपनी पुस्तक ‘टाइमियस’ और ‘क्रिटियास’ में किया था। कहते हैं अटलांटिस का विज्ञान आज के विज्ञान से हजारों गुना ज्यादा बेहतर था। पर

» Read more

सन राइजिंग एक रहस्यमय जहाज / Sun Rising A Mysterious Ship

हिमालय की गुफाओं से निकलकर, अटलांटिस की धरती के रहस्यों की परतों को खोलने वाली, देवताओं के द्वारा रची गयी ऐसी महागाथा, जिसे आप बार बार पढना चाहेंगे। यह कहानी है सन राइजिंग नामक एक ऐसे पानी के जहाज की जो किसी कारणवश रास्ता भटक कर बरमूडा ट्रायंगल के खतरनाक क्षेत्र में फंस जाता है। कहानी के कुछ पात्र भयानक

» Read more

अनोखी रात / Anokhi Raat

अपनी होने वाली बीवी के अतीत को, उसकी पृष्ठभूमि को देवेन्द्र पराशर ने कभी महत्त्व नहीं दिया था । उसकी निगाह में तो महत्वपूर्ण बात केवल यह थी कि वो उससे दीवानावार मुहब्बत करता था और वो उससे मुहब्बत करती थी । लेकिन फिर एक रात, एक अनोखी रात, के बाद उसकी बीवी के अतीत की परतें जब एक-एक करके

» Read more

अनदेखा खतरा / Andekha Khatra 

जूही मानसिंह को लगता था, कोई है जो उसकी जान लेना चाहता है। वो हर वक्त खुद को एक अनजाने-अनदेखे खतरे से घिरा हुआ महसूस करती थी। उसका दावा था कि उसकी हवेली में नर-कंकाल घूमते थे! मरे हुए लोग अचानक उसके सामने आ जाते और फिर पलक झपकते ही गायब हो जाते थे। बंद कमरे में उसपर गोलियां चलाई

» Read more
1 2 3 4